This Website is on sell. Contact to admin : 9170244988 or 9112536375
 

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (10 अक्टूबर)


इसे भी जरुर देखें :-

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (10 अक्टूबर): (10: October: World Mental Health Day in Hindi) 

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस कब मनाया जाता है?

प्रतिवर्ष पूरे विश्व में 10 अक्टूबर को मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों पर जागरूकता पैदा करने के लिए विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस 2019 का विषय (थीम) “मानसिक स्वास्थ्य संवर्धन और आत्महत्या रोकथाम” रखी गयी है।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का इतिहास:

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पहली बार वर्ष 1992 में मनाया गया था। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (विश्व स्वास्थ्य संगठन) और वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ मेन्टल हेल्थ (विश्व मानसिक स्वास्थ्य महासंघ) द्वारा मानसिक बीमारियों के प्रति जागरूकता फैलाने और अपने मन का आत्मनिरीक्षण करके अपने व्यक्तित्व विकारों व मानसिक विकृतियों को सक्रिय रूप से पहचानने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पूरी दुनिया में मनाया जाता है। इस दिन पूरे विश्व के सरकारी और सामाजिक संगठनों द्वारा तनावमुक्ति विषय पर कार्यक्रम आयाजित किए जाते हैं।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का उद्देश्य:

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मुख्य का उद्देश्य मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित बीमारियों के बारे में लोगों को जागरूक करना है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, विश्व भर के लगभग 350 मिलियन से अधिक लोग मानसिक अवसाद से ग्रसित हैं। पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं इससे ज्यादा प्रभावित हैं।

 

मानसिक स्वास्थ्य विकार विश्व भर में होने वाली सामान्य बीमारियों में से एक है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मानसिक विकारों से पीड़ित व्यक्तियों की अनुमानित संख्या 450 मिलियन हैं। भारत में लगभग 1.5 मिलियन व्यक्ति, जिनमें बच्चे एवं किशोर भी शामिल है, गंभीर मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से प्रभावित हैं।

मानसिक बीमारी व्यक्ति के महसूस, सोचने एवं काम करने के तरीकें को प्रभावित करती हैं। यह रोग व्यक्ति के मनोयोग, स्वभाव, ध्यान और संयोजन एवं बातचीत करने की क्षमता में समस्या पैदा करता हैं। अंततः व्यक्ति असामान्य व्यवहार का शिकार हो जाता है। उसे दैनिक जीवन के कार्यकलापों के लिए भी संघर्ष करना पड़ता हैं, जिसके कारण यह गंभीर समस्या स्वास्थ्य चिंता का विषय बन गयी है, इसलिए भारत सरकार ने देश में मानसिक बीमारी के बढ़ते बोझ पर विचार करने के उद्देश्य से वर्ष 1982 में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम (एनएमएचपी) की शुरूआत की थी।

विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के विषय:
  • वर्ष 2019 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme)-‘‘ मानसिक स्वास्थ्य संवर्धन और आत्महत्या रोकथाम” है।
  • वर्ष 2018 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme)-‘‘ विश्व के बदलते परिदृश्य में वयस्क और मानसिक स्वास्थ्य” था।
  • वर्ष 2017 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme)-‘‘ कार्यस्थल में मानसिक स्वास्थ्य’ (Mental Health in The Workplace) था।
  • वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme)- “मनोवैज्ञानिक प्राथमिक चिकित्सा” था।
  • वर्ष 2015 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme)- “मानसिक स्वास्थ्य में गरिमा’’ (Dignity in mental health) ” था।
मानसिक बीमारी से पीड़ित होने वाले मूल कारण:
  • मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के लिए निम्नलिखित कारक उत्तरदायी हैं, जैसे कि –
  • परिवेश संबंधी तनाव जैसे कि चिंता, अकेलापन, साथियों का दबाव, आत्मसम्मान में कमी, परिवार में मृत्यु या तलाक।
  • दुर्घटना, चोट, हिंसा एवं बलात्कार से मनोवैज्ञानिक आघात होना।
  • आनुवंशिक असामान्यताएं।
  • मस्तिष्क की चोट/दोष।
  • अल्कोहल एवं ड्रग्स जैसे मादक पदार्थों का सेवन।
  • संक्रमण के कारण मस्तिष्क की क्षति।

अपने दोस्तों से शेयर जरुर करे :-


 इसे भी देखें :-

हैलो स्टूडेंट हमें उम्मीद है आपको हमारा यह पोस्ट "विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (10 अक्टूबर)" जरुर पसंद आया होगा l हम आपके लिए ऐसे ही अच्छे - अच्छे पोस्ट रोज लिखते रहेंगे l अगर आपको वाकई मे हमारा यह पोस्ट जबर्दस्त लगा हो तो अपने दोस्तों शेयर करना ना भूलेl

अपने फेसबुक पर लेटेस्ट अपडेट सबसे पहले पाने के लिए Taiyari News पेज जरुर Like करे l


इसे भी पढ़े :


Disclaimer : Taiyari News claim this post, that we made and examined. We giving the effectively content on web. In the event that any way it abuses the law or has any issues then sympathetically mail us : [email protected]