मिहीरा भोजो का जीवन परिचय - Mihira Bhoja Biography In Hindi


मिहिरभोज प्रतिहार राजवंश के सबसे महान राजा माने जाते हैं. इन्होने लगभग 50 साल तक राज्य किया था. इनका साम्राज्य अत्यंत विशाल था, और इसके अंतर्गत वे क्षेत्र आते थे, जो आधुनिक भारत के राजस्थान, मध्य प्रदेश , उत्तर प्रदेश , पंजाब, हरियाणा, उड़ीसा, गुजरात, हिमाचल आदि राज्य हैं.

मिहिर भोज विष्णु भगवान के भक्त थे तथा कुछ सिक्कों में इन्हें ‘आदिवराह’ भी माना गया हिज. सम्राट मिहिर भोज ने 836 ईस्वी से 885 ईस्वी तक 49 साल तक राज किया. मिहिर भोज के साम्राज्य का विस्तार आज के सुलतान से पश्चिम बंगाल तक और कश्मीर से कर्णाटक तक फैला हुआ था. ये धर्म रक्षक सम्राट शिव के परम भाक्त थे.

स्कंध पुराण के प्रभास खंड में सम्राट मिहिर भोज के जीवन के बारे में विवरण मिलता हैं. 50 वर्ष तक राज्य करने के पश्चात वे अपने बेटे महेंद्र पाल को राज सिंहासन सौपकर सन्यासवृत्ति के लिए वन में चले गए थे. अरब यात्री सुलेमान ने भारत भ्रमण के दौरान लिखी पुस्तक सिल्सिलिउट तुआरिख 851 ईस्वी में सम्राट महिर भोज को इस्लाम का सबसे बड़ा शत्रु बताया हैं, साथ ही मिहिर भोज की महान सेना की तारीफ़ भी की हैं, साथ ही मिहिर भोज के राज्य की सीमाएं दक्षिण में राज्कुतों के राज्य पूर्व में बंगाल के पाल शासक और पश्चिम में सुलतान के शासकों की सीमाओं को चुटी हुई बताई हैं.


अपने दोस्तों से शेयर जरुर करे :-


 इसे भी देखें :-

हैलो स्टूडेंट हमें उम्मीद है आपको हमारा यह पोस्ट "मिहीरा भोजो का जीवन परिचय - Mihira Bhoja Biography In Hindi" जरुर पसंद आया होगा l हम आपके लिए ऐसे ही अच्छे - अच्छे पोस्ट रोज लिखते रहेंगे l अगर आपको वाकई मे हमारा यह पोस्ट जबर्दस्त लगा हो तो अपने दोस्तों शेयर करना ना भूलेl

अपने फेसबुक पर लेटेस्ट अपडेट सबसे पहले पाने के लिए Taiyari News पेज जरुर Like करे l


इसे भी पढ़े :


Disclaimer : Taiyari News claim this post, that we made and examined. We giving the effectively content on web. In the event that any way it abuses the law or has any issues then sympathetically mail us : [email protected]